PCOD को जड़ से खत्म करने के लिए क्या करें?

PCOD के बारे में जाने इस आर्टिकल के माध्यम से और महिलाये क्यों है परेशान ?

यह बाते कड़वी है लेकिन सच है आप सभी लोग क्या राय रखते है जरूर बताइयेगा ” आज के समय में हम देखें तो लोगों के पास जरा भी खुद के लिए समय नहीं है लोग अपने शरीर अपने हेल्थ को लेकर सजक नहीं है आजकल के लोग आलसी और कमजोर होते जा रहे हैं अक्सर ऐसे लोग शहरों में देखने को ज्यादा मिलते हैं ।

गांव में हर व्यक्ति अपना काम स्वयं करता है पुरुषों से लेकर महिलाओं और बच्चों तक सभी अपना काम स्वयं करते हैं और वहां के लोगों को नई-नई बीमारियों का सामना नहीं करना पड़ता और वह स्वस्थ रहते हैं ।

यहां के लोग प्रकृति से जुड़े रहते हैं और अपने भोजन में वे लोग हरी सब्जियों का सेवन करते हैं और रोग मुक्त रहते हैं और PCOD जैसा शब्द शायद ही उन्होंने सुना होगा ।

किंतु शहरों में आज हमें देखने को मिलता है लोग देर तक सोते हैं, सुबह का सूर्योदय और सुबह की स्वच्छ हवा तो उनको शायद ही देखने को नसीब हुई होगी और तो और लोग अपना काम स्वयं ना कर नौकरों से करवाते हैं ।

देखा जाए तो इनका दिनचर्या और व्यवस्थित होता है देखा जाए तो यहां के लोग अपने खान-पान की वस्तुएं स्वस्थ हो या हेल्दी हो या तो भूल जाते हैं, यहां के लोग तली हुई मसालेदार चटपटी चीजे , जंक फूड ज्यादा खाना पसंद करते हैं इसलिए अक्सर शहरों में या शहरों के लोगों को नई-नई बीमारियों का सामना करना पड़ता है जिसमें महिलाओं को PCOD जैसे रोग को सामना करना पड़ता हैं।

PCOD क्या है ?

PCOD क्या है ? यह शब्द उन महिलाओं के जहन में जरूर रहता होगा जो इससे ग्रसित है और आज हम जानेगे की यह है क्या चीज ? तो चलिए जानते है यह पुरुष हार्मोन होता है इसे अंग्रेजी में एंड्रोजन कहते हैं,इसकी अधिकता से होने वाला यह रोग या विकार है। PCOD का पूरा नाम पॉलिसिस्टिक ओवरी डिज़ीज़ है।

PCOD क्यों होता है ? और इसके लक्षण

  • PCOD महिलाओं में होने वाली एक साधारण से समस्या है जिसकी मुख्य वजह महिलाओं के शरीर में हार्मोंस का संतुलन बिगड़ना है।
  • अनुचित खानपान से मासिक धर्म (Period ) का सही तरीके से नहीं आना या यु कहे मासिक धर्म का अनियमित होना।
  • महिलाओं के चेहरे शरीर पर जरूर से ज्यादा बाल आना, कील मुंहासे का अत्यधिक होना।
  • महिलाओं का अकारण ही जरूरत से ज्यादा वजन बढ़ना।
  • लगातार 3 महीने या 4 महीने तक पीरियड का नहीं आना और जब आता है तो अत्यधिक दर्द होना।
  • संतान प्राप्ति या महिलाओं की प्रेग्नेंसी में रुकावट आना यह सभी लक्षण PCOD की समस्या से होती है।

अधिकतर देखा गया है की जो महिलाएं शराब और धूम्रपान करते हैं या तेलिय पदार्थ जैसे पिज़्ज़ा, बर्गर मैदे से बनी चीजों का अत्यधिक सेवन करते हैं उनमें यह समस्या अधिकतर देखी गई है।

PCOD को कम या जड़ से खत्म करने के उपाय

जिन महिलाओं को PCOD की समस्या है उनको कुछ बातों का जरूर ध्यान रखना चाहिए जो नीचे दिए गए है –

  • खान-पान में विशेष ध्यान रखना चाहिए उन्हें हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए। बाहर की चीजे को कम खाना चाहिए या बाहर के खाने को बंद ही कर देना चाहिए।
  • अपने वजन को संतुलन में रखना अर्थात अपने मोटापे पर कंट्रोल रखना चाहिए।
  • तनावपूर्ण बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए, जितना हो सके खुद को खुश रखना चाहिए।
  • नियमित रूप से सोना व उठाना चाहिए और उन्हें सुबह के धूप लेना चाहिए।
  • नशीले पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए।
  • महिलाओं को सात्विक भोजन का उपयोग करना चाहिए।
  • प्रत्येक दिन सुबह उठकर व्यायाम करना चाहिए, ताकि शरीर फुर्तीलता तथा तरोताजा बना रहे।
  • उन महिलाओं को प्रतिदिन योग और ध्यान करना चाहिए जिससे उनके शरीर में हार्मोनल सिस्टम असंतुलित हो गया हो उसे संतुलित करने में सहायता मिलेगी।
  • मासिक धर्म को नियमित करना जिससे यह विकार दूर हो जायेगा।
  • इंसुलिन रेजिस्टेंस के लेवल को आपको काम करना चाहिए जिससे PCOD कम या खत्म हो जायेगा।

परामर्श

अगर आपको ऊपर दिए गए लक्षण देखने को मिलते हैं तो आप तुरंत अपने निजी डॉक्टर से सलाह ले और अपनी परेशानियों को साझा करें ताकि वह आपकी परेशानी को दूर कर सके।

कुछ महिलाएं जो डॉक्टर के पास जाने से कतराती है उन्हें घर में ही PCOD को खत्म करने के उपाय करना चाहिए ताकि वह इस समस्या से बच सके आपको कुछ उपाय ऊपर दिए गए हैं आप उनकी भी सहायता से इसे कम कर सकते हैं। अगर आपको ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो आप देरी न करते हुए डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

जिन महिलाओं को PCOD की समस्या है उन्हें इस अवस्था में क्या-क्या खाना चाहिए इसके बारे में आपको आगे दूसरे आर्टिकल में बताया जाएगा।

धन्यवाद!

आप इन्हे भी जाने !

Heatstroke: गर्मी में लू लग जाए तो क्या करें?

Leave a comment