घुटने की ग्रीस बढ़ाने के उपाय बताइए

दोस्तों मैं अजय आज आपको बताने वाला हु कुछ खास बात जिससे सभी लोग होते हैं परेशान और कहीं ना कहीं आप सभी इस प्रॉब्लम को ठीक करने के लिए गूगल पर सर्च करते होंगे घुटने की ग्रीस को कैसे बढ़ाएं , लेकिन इसकी सही जानकारी ना होने के कारण आप भटक रहे हैं लेकिन आपकी खोज यहीं खत्म हो जाएगी क्यूंकि मैं इस आर्टिकल में उस प्रॉब्लम के बारे में बताने वाला हु।

जब भी हमारे घुटनों में ग्रीस खत्म हो जाता हैं मतलब की घुटने की चिकनाई खत्म हो जाती हैं तो , हमे इसके खामियाजा भुगतना पड़ता है जैसे की , घुटने में कट कट की आवाज आना , चलने फिरने में दिक्कत , जोड़ो में दर्द और घुटनो में सूजन जैसी प्रॉब्लम देखनी को मिलती हैं।

और इस दुविधा से बूढ़ों से लेकर नौजवान भी परेशान हैं और इस परेशानी को कैसे मेंटन करना है जिससे की भविष्य में इससे परेशान ना होना पड़े इसके बारें में भी जानेगे इससे पहले मैं आपको बता दू की किन किन लोगों को यह दिक्कत हो सकतीं हैं।

  • एथलीट मतलब की जो लोग ज्यादा बॉडी वर्कआउट या रनिंग करते हैं।
  • जिनकी उम्र 40 से ऊपर हैं।
  • जो व्यक्ति खड़े होकर या ज्यादा टाइम खड़े होकर काम करता हैं।

दोस्तों चलिए बिना किसी देरी के इस आर्टिकल को शुरू करते हैं।

किन कारणों से आपके घुटने की ग्रीस कम हो रही है?

उम्र के बढ़ने से घुटनो में ग्रीस का कम होना

हम सभी को पता हैं की उम्र का बढ़ना भी एक मुख्य कारण हैं , क्यूंकि जैसे जैसे हमारी उम्र बढ़ती है वैसे वैसे हड्डियां कमजोर होती चली जाती हैं ,और यह अच्छे से जोड़ो में चीखनाहट नहीं बना पाते। और हमे घुटनो में ग्रीस की कमी देखने को मिलती हैं , आप कुछ के दादा दादी , नाना नानी ज्यादा चलने फिरने में असमर्थ होंगे क्यूंकि वे भी इस दिक्कत का सामना कर रहे हैं।

ओस्टियोआर्थराइटिस ( गाठिया )

ओस्टियोआर्थराइटिस यह एक तरह की गाठिया होती है जिसके अंदर आपके जोड़ों में जो फ्लूइड होता है जिसे साइनबल फ्लूइड कहते है। चिकनाई या ग्रीस आप इसे कहते है ये कम होने लगता है और इसकी वजह से भी आपको जोड़ों में दर्द और सूजन वगैरह की शिकायत होने लगती है। जिससे असहनीय दर्द के साथ घुटनो में जान नहीं बचती हैं।

ज्यादा खट्टा खाना और डाइबिटीक

दोस्तों आज का समय ऐसा है की सभी को ख़ास तौर में महिलाओ को खट्टा खाना बहुत अच्छा लगता है लेकिन दोस्तों मै ये बता बता दू की ज्यादा खट्टा खाने से से भी हमारे घुटनो पर बहुत असदार पड़ता है बहुत ज्यादा खट्टा खाना मतलब अपने लिए बहुत सी मुसीबतो को बुलाना है क्योकि दोस्तों खट्टे फलो में सिट्रिक एसिड की मात्रा बहुत अधिक होती है और जो हमारे घुटनो के लिए नुकसानदेह माना जाता है।

आगे आप खट्टी चीजे ज्यादा खाएंगे तो धीरे धीरे आपके घुटनो में एसिड की मात्रा ज्यादा बढ़ती जाएगी और धीरे धीरे ये आपके घुटनो की चिकनाहट को कम कर देगा मैं आपको बता दू दोस्तों डाइबिटिक वाले मरीजों में भी आपने अक्सर देखा होगा उनको घुटने में बहुत जल्दी दर्द की समस्या आने लगती है क्योकि मधुमेह के रोगियों में सबसे पहले उनके घुटने में प्रभाव डालता है जिससे उनके घुटनो के ग्रीस ख़तम होने लगते है और दर्द की समस्या बढ़ने लगती है।

क्या इस ग्रीस को दोबारा से बढ़ाया जा सकता है?

बहुत से दोस्तों के मन में यह सवाल आना लाजमी हैं क्यूंकि हर कोई पीड़ित इस समस्या से उभरना चाहता हैं अगर आपके जोड़ों के अंदर ग्रीस कम हो गया है। आपके घुटने में से ग्रीस कम हो गया है उसकी वजह से आपको चलने फिरने में परेशानी है, सीढ़ियों चढ़ने में दिक्कत है।

आपके घुटनों में दर्द और सूजन की शिकायत है और कट कट की आवाज़ें आने लगी है तो आपको किन चीजों का इस्तेमान करना चाइये जिससे इस प्रोब्लम से निजाद पा सके। आप सभी को किन चीजों का use करना हैं नीचे आपको बताया जायेगा।

अखरोट

दोस्तों अखरोट में हेल्दी फैट देखने को मिलते हैं। इसके अंदर कुछ सुपर चीजे होती हैं जैसे इसमें ओमेगा थ्री फैटी असिड मिलते हैं , विटामिन D 3 मिलता है, कैल्शियम मिलता है, विटामिन डी थ्री मिलता है, ओमेगा थ्री फैटी असिड मिलते हैं और बहुत सारे मिनेरल्स और विटामिन पी इसके अंदर आपको मिल जाते हैं।

दोस्तों यह चीजे हड्डीओं में जान डालने में सक्षम हैं जिससे आपके जोड़ो या घुटनो में चिकनाई या ग्रीस बनना स्टार्ट हो जाइएगा जिससे आप आसानी से चल फिर सकते हों।

किस प्रकार से खाने से इसका फायदा मिलगा तो चलो जानते हैं दोस्तों अखरोट के गिरी को आप रात में भिगो कर रख लीजिये और सुबह होते ही इसे खा लीजिये लेकिन इसके छिलके को निकाल दीजियेगा।

दोस्तों इसका असर आपको एक महीने के अंदर आप अपने जोड़ों के अंदर बहुत ही अच्छा बेनिफिट्स या इम्प्रूवमेंट देखेंगे और आपके जो दर्द की शिकायत है सिर्फ एक महीने के अंदर ही कम होनी शुरू हो जाएगी।

हरसिंगार लीव्स ( Harsingar Leaves )

यह चीज औषधी से कम नहीं हैं जिसका नाम है पारिजात या हर सिंगार इससे भी जोड़ो में जो चिकनाई खत्म या नष्ट हो गई उसे वापस लाया जा सकता है इस रामबाण पेड़ के पत्तो का हम उपयोग करेंगे।

इसको आप कैसे use करेंगे तो चलो जान लेते हैं।

आप पारिजात के पत्तों को अच्छी तरीके से कुचल लीजिये फिर इस कुचले चीज को 1 ग्लास पानी में मिला लेना हैं और और इसे अच्छे से गर्म करना हैं।

जब गर्म हो जाये अच्छे से उबल जाये तब इसे ठंडा होने दीजिये जब यह ठंडा हो जाये तब इसे आप use कर सकते हैं आपको इसका सेवन सुबह सुबह खाली पेट करना हैं।

नारियल पानी

दोस्तों तीसरी चीज हम उपयोग में लेन वाले हैं वह हैं नारियल पानी ,इसे हम कोकोनट वाटर भी कहते हैं इस नारियल पानी में प्रकृति ने ऐसे पोषक तत्व दिए हैं जिसकी कोई लिमिट नहीं है ,इसके सेवन से हमारे शरीर में ताजगी बनी रहती हैं , और इससे आपके जोड़ो में भी जान आती हैं जोड़ो में चिकनाहट बनाने में भी मदद करता हैं , इसके फायदे अनेक हैं।

इसका उपयोग कैसे करना हैं वह जान लीजिये आपको हर दिन नारियल के पानी को कम से कम 1 ग्लास पीना हैं और इसे आप दिन में ही लीजिये ताकि आप सर्दी से बच सके अगर आप इसे रात में लेते हैं तो सर्दी लग सकती हैं।

जोड़ो की ग्रीस को फिर से रिसर्व करने के लिए आपको दूध का भी सेवन करना चाइये जिससे कैल्शियम बढ़ेगा ओर हड्डियों को मजबूत करेगा।

विटामिन D3 के लिए दोस्तों आपको सूर्य के प्रकाश के आगे कुछ समय बिताना चाइये जिससे आपको इसकी पूर्ति हो सके।

आप इन्हे भी पढ़ सकते हैं !

Diabetes को कम करने का रामबाण नुस्खा

Leave a comment