PCOD Diet Chart: PCOD को अलविदा कहने के लिए 7 दिन का चैलेंज काफी हैं

आज का आर्टिकल उन महिलाओं को समर्पित हैं जो PCOD से बहुत परेशान हैं अब ये परेशानी ज्यादा दिन नहीं रहेगी क्यूंकि मैं आपको ऐसे डाइट चार्ट के बारे में बताऊंगा जो इस दिक्कत से बाहर निकलने की ताकत रखता हैं और इस PCOD Diet Chart को अगर आपने रेगुलर फॉलो करतेहै तो वो दिन दूर नहीं जिस दिन PCOD को आप अलविदा कहेंगे।

पॉलीसिस्टिक ओवेरियन डिजीज (PCOD), जिसे पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम (PCOS) के नाम से भी जाना जाता है, एक सामान्य हार्मोनल विकार है जो की महिलाओं को ही होता हैं और प्रभावित करता है। इसमें ओवरीज में छोटे-छोटे सिस्ट्स बनने लगते हैं, जिससे हार्मोनल असंतुलन होता है। इसके कुछ लक्षणों में यह देखा गया हैं अनियमित माहवारी, वजन बढ़ना, मुंहासे, और बालों का झड़ना शामिल हो सकते हैं।

PCOD के लक्षण:

PCOD के डाइट चार्ट को जानने से पहले हम इसके लक्षणों को जान लेते हैं जिससे आसानी होगी आपको जो हम बता रहे हैं वह दिक्कत हैं की नहीं तो चलो जानते हैं कुछ प्रमुख सिम्टम्स –

  1. पीरियड का समय के बेसमय आना : पीसीओडी के कारण मासिक धर्म चक्र अनियमित या गड़बड़ा जाता हैं हो सकता है कई महीनों तक मासिक धर्म नहीं आता ये कुछ सिम्टम्स होते हैं ।
  2. वजन बढ़ना: PCOD की जिसको प्रॉब्लम होती हैं उन महिलाओं में वजन बढ़ना सामान्य है, विशेषकर पेट के आसपास ।
  3. मुंहासे और त्वचा संबंधी प्रॉब्लम : PCOD की प्रॉब्लम में शरीर के हार्मोन्स डिस्टारप हो जाते हैं या हार्मोनल असंतुलन के कारण चेहरे पर मुंहासे और तैलीय त्वचा हो सकती है ये भी कुछ लक्षण हैं ।
  4. बालों का झड़ना और बालों की वृद्धि: जिन महिलाओं में सिर के बालों का झड़ते हैं और इसके साथ चेहरे और शरीर में असंतुलित रूप से ज्यादा बालों का उगना भी इसके लक्षण होते हैं ।

PCOD Diet Chart का महत्व

PCOD की जिसको प्रॉब्लम होती हैं उन्हें ही पता होता हैं की इसको कैसे ठीक करना हैं लेकिन बहुत सी महिलाओं को उसके बारे में पता नहीं होता की वे PCOD Diet Chart को फॉलो करके इसे जड़ से खत्म कर सकते हैं वैसे PCOD Diet Chart हमें क्या क्या चीज खाना हैं।

इसका एक मैनेजमेंट चार्ट हैं इससे आसानी होगी अपने आहार को प्रबंधित करने में और इसका बहुत बड़ा योगदान होता है। सही डाइट न केवल वजन को नियंत्रित करने में मदद करता है, बल्कि हार्मोनल संतुलन को बनाए रखने और लक्षणों को कम करने में भी सहायक होता है।

PCOD में डाइट क्या प्रभाव डालती हैं :

  1. इंसुलिन की इफेक्टिविटी को बढ़ाना: एक हेल्दी डाइट इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाने में मदद कर सकता है, जो PCOD के लक्षणों को कम करने में मदद करता हैं ।
  2. वजन नियंत्रण: एक संतुलित आहार वजन को नियंत्रित करने में मदद करता है, जो पीसीओडी के लक्षणों को कम करने में सहायक है।
  3. सूजन को कम करना: अगर हम डाइट लेते हैं तो कुछ डाइट ऐसे होते हैं जिनमे एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो की शरीर के सूजन को कम करने में मदद करता है।

ये तो कुछ लक्षणों के बारे में आपको हमने बताया है अब मुद्दे पर आते हैं की इसका क्या डाइट प्लान रहेगा तो निचे आपको इसके बारे में बताया गया है इसको आप इत्मीनान से पढ़िए –

PCOD के लिए आहार चार्ट (PCOD Diet Chart )

सुबह का नाश्ता (Breakfast)

ओट्स या दलिया: दलिया को सुबह लेना आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगा क्यूंकि इसमें और फाइबर, फोलेट ,पोटैशियम ,राइबोफ्लेविन , जिंक , थियामिन ,सोडियम , प्रोटीन जैसे पोषक तत्व शामिल होते हैं और आवश्यक विटामिन्स से भरपूर होते हैं, जो भूख को कण्ट्रोल करते हैं और ब्लड शुगर को नियंत्रित करते हैं।

कैसे करें: आप एक कटोरी ओट्स या दलिया में थोड़े से फलों के टुकड़े मिला लिए और इसमें आप कुछ नट्स को भी ऐड कर सकते हैं फिर इसे आप मिलाकर खा सकते हैं।

ग्रीक योगर्ट और बेरीज: ग्रीक योगर्ट में ऐसे विटामिन्स और पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में खून बनाने में बहुत ही सहायक होते हैं इसमें क्या क्या पाया जाता यह भी जान लेते हैं इसमें विटामिन A ,विटामिन B12 ,और पैंटोथेनिक एसिड से भरपूर होता है और बेरीज में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो शरीर के इम्युनिटी को बढ़ाते हैं।

कैसे करें: ग्रीक योगर्ट में ब्लूबेरी, स्ट्रॉबेरी या अन्य बेरीज मिलाकर खाएं।

मध्य-सुबह का स्नैक (Mid-Morning Snack)

फल: आप फल में सेब का उपयोग कर सकते हैं इस फल में प्राकृतिक शर्करा और फाइबर के अच्छे स्रोत होते हैं, जो ताजगी और ऊर्जा प्रदान कर शरीर को फिट रखते हैं।

कैसे करें: एक सेब, नाशपाती या संतरा खाएं।

मुट्ठी भर नट्स:

  • लाभ: नट्स स्वस्थ फैट और प्रोटीन का अच्छा स्रोत होते हैं, जो भूख को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।
  • कैसे करें: बादाम, अखरोट या काजू जैसे नट्स खाएं।

दोपहर का भोजन (Lunch)

  1. सलाद:
  • लाभ: ताजे सब्जियों का सलाद विटामिन्स, मिनरल्स और फाइबर से भरपूर होता है, जो शरीर को आवश्यक पोषण प्रदान करता है।
  • कैसे करें: खीरा, टमाटर, गाजर, और पालक का सलाद बनाएं और ऊपर से जैतून का तेल और नींबू का रस डालकर खाएं।
  1. प्रोटीन स्रोत:
  • लाभ: प्रोटीन मांसपेशियों के निर्माण और मरम्मत में मदद करता है, और भूख को नियंत्रित करता है।
  • कैसे करें: चिकन ब्रेस्ट, मछली, या पनीर का एक टुकड़ा खाएं।
  1. संपूर्ण अनाज:
  • लाभ: ब्राउन राइस, क्विनोआ, या रागी रोटी फाइबर और आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।
  • कैसे करें: एक कटोरी ब्राउन राइस या क्विनोआ खाएं, या मल्टीग्रेन रोटी का सेवन करें।

शाम का स्नैक (Evening Snack)

  1. हरी चाय:
  • लाभ: हरी चाय में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो मेटाबॉलिज्म को बढ़ाते हैं और वजन नियंत्रण में मदद करते हैं।
  • कैसे करें: एक कप हरी चाय पिएं।
  1. बेक्ड स्नैक्स:
  • लाभ: बेक्ड स्नैक्स हल्के और पौष्टिक होते हैं और भूख को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।
  • कैसे करें: बेक्ड मूंग दाल चिल्ला, ओट्स कुकीज, या वेजिटेबल सूप का सेवन करें।

रात का खाना (Dinner)

  1. सब्जियों की करी:
  • लाभ: मिक्स वेजिटेबल करी विटामिन्स, मिनरल्स और फाइबर का अच्छा स्रोत होती है, जो शरीर को आवश्यक पोषण प्रदान करती है।
  • कैसे करें: पालक पनीर, भिंडी, या गोभी की सब्जी खाएं।
  1. दाल: दाल प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होती है, जो पाचन को बेहतर बनाती है और भूख को नियंत्रित करती है।

कैसे करें: एक कटोरी दाल या राजमा खाएं।

  1. रोटी या चावल:
  • लाभ: मल्टीग्रेन रोटी या ब्राउन राइस में कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है, जो शुगर लेवल को नियंत्रित करता है।
  • कैसे करें: मल्टीग्रेन रोटी या ब्राउन राइस का सेवन करें।

सोने से पहले (Before Bed)

  1. गर्म दूध: अगर आप दूध पीते हैं तो इससे भी आपको फायदा मिलेगा आप दूध को गर्म करके लीजिये इसमें कैल्शियम होता है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है और हल्दी मिलाने से एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण बढ़ जाते हैं आप ऐसे भी ले सकते हैं

PCOD होने पर इन चीजों पर विशेष ध्यान देना है

चीनी और प्रोसेस्ड फूड से बचें: मीठे पेय, बेक्ड सामान, और जंक फूड से बचें।

स्वस्थ फैट: स्वस्थ फैट हार्मोनल संतुलन को बनाए रखने में मदद करता हैं और हृदय स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता हैं ।इसके लिए आप इन चीजों का उपयोग कर सकते हैं जैसे – जैतून का तेल, एवोकाडो, और नट्स का सेवन करें।

अधिक पानी पिएं: आपको अपने शरीर में पानी की कमी नहीं होने देना हैं। पानी पीते रहना हैं इससे शरीर हाइड्रेटेड रहता है और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता हैं । आपको दिन भर में कम से कम 8-10 गिलास पानी पीना हैं।

रेगुलर एक्सरसाइज: शरीर के सभी हार्मोन्स को कंट्रोल करने के लिए आपको रोजाना वर्कआउट करना चाइये इससे वजन को नियंत्रित करने और इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाने में मदद मिलती हैं। आप इसमें योग, चलना, तैराकी, या जिम में भी कर सकते हैं।

PCOD एक लम्बी स्थिति है जिसे सही डाइट के साथ और जीवनशैली में कुछ परिवर्तन के माध्यम से इसे कंट्रोल किया जा सकता है। ऊपर हमने इसके आहार का चार्ट बना के दिया हैं इसे अपनाकर आप पीसीओडी के लक्षणों को कम कर सकते हैं और अपने स्वास्थ्य को बेहतर बना सकते हैं। अगर आपको ज्यादा दिक्कत हो रही है तो अपने डॉक्टर को जरूर दिखाए।

Must Read

मुँह के छाले दूर करने के उपाय:Remedies To Get Rid Of Mouth Ulcers

Leave a comment